स्वास्थ्य संविदा कर्मचारियों की हड़ताल लगातार जारी जिले में स्वास्थ्य सेवाएं पूरी तरह ठप

 

 

रंजीत बंजारे बेमेतरा// छ.ग. प्रदेश एनएचएम कर्मचारी संघ के प्रांतीय आव्हान पर एन.एच.एम. एवं छत्तीसगढ़ नियंत्रण कार्यक्रम मे कार्यरत समस्त स्वास्थ्य संस्था के अधिकारी/कर्मचारी डाॅक्टर, नर्स, लैब तकनिशियन, सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारी, फार्मास्स्टि, काउंसलर, डेेंटल सहायक, जेएसए, डाटा मैनेजर, अकाउंट मैनेजर, प्रोग्राम मैनेजर, जेएसए आदि 19/09/2020 से अपनी एक सूत्रीय मांग छ.ग. राज्य के 13000 स्वास्थ्य कर्मियों के नियमितिकरण को लेकर लगातार हडताल मे है। शनिवार को भी जिले के संविदा स्वास्थ्य कर्मचारी बडी संख्या मे जिला मुख्यालय पहूच अपनी मांग नियमितिकरण के लिए बेसीक मैदान मे संविधान की प्रस्तावना को पढ़ .. हम अपना अधिकार मांगते नही किसी से भीख मांगते के नारे के साथ धरना प्रदर्शन कीया

जिला संघ के प्रवक्ता गोपिका जायसवाल द्वारा घर से चीला रोटी बनाकर हड़ताल स्थल लाया गया था जिसमे टोमैटो कैचप से नियमितीकरण लिख कर्मचारियों ने नियमितीकरण का चीला खाया

संविदा स्वास्थ्य कर्मियो के हडताल के कारण जिले मे स्वास्थ्य सेवाए बद से बदतर हो गई हैं। जिले के कई उपस्वास्थ्य केन्द्रो तथा हेल्थ एवं वेलनेस सेंटरो मे ताला जडा हुआ है साथ ही जिला अस्पताल , सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रो, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रो मे कार्यरत कर्मचारियों के हडताल मे जाने के कारण जिले के लोगो को स्वास्थ्य सेवाए नही मिल पा रही हैं। इनके द्वारा किये जाने वाला कार्य टीकाकरण, गर्भवती जांच, परिवार कल्याण का साधन जैसे कापर-टी, पीपीआईयुसीडी लगाना ,कुष्ट रोगो की पहचान करना व उनका ईजाज स्टार्ट करना, टीबी मरीजो को खोजना एवं उन्हे ठीक करने के लिए उनका ट्रीटमेंट स्टार्ट करना, एचबी चांच करना, डायबीटीज एवं हाईपरटेंशन के मरीजो को खोजना और उनका ट्रीटमेंट स्टार्ट करना, ब्रेस्ट एवं सरवाईकल कैंसर की स्क्रीनिंग करना उन्हे उच्च संस्थान रेफर करना , जन्मजात विकृति वाले बच्चो को इलाज के लिए सही जगह ले जाना, मातृत्व एवं शिशु स्वास्थ्य की देखभाल करना, एचआईवी टेस्ट करना एवं एचआईवी पाजीटीव को एआरटी सेंटर भेज उनका ट्रीटमेंट स्टार्ट करना, घर प्रसव को रोकना, ब्लड स्लाईड, गर्भवती महिलाओं को पोषाण आहार के साथ-साथ रहन-सहन के तरीके समझााना, स्तनपान करवाना सिखाना,प्रसव करवाना, योग करवाने, टीबी के लिए सीबीनाट टेस्ट इत्यादि के साथ-साथ कोरोना जांच जैसे सबसे महत्वपूर्ण कार्य प्रभावित हो रहा है जिसके कारण पुरे जिले मे स्वास्थ्य सेवाएॅ बदहाल हो गई है।

संघ जिला इकाई अध्यक्ष पुरन दास, उपाध्यक्ष संजय तिवारी एवं प्रवक्ता गोपीका जायसवाल ने बताया कि हम लगातार आठवे दिन भी पुरे जोश के साथ जिला मुख्यालय पहुॅच अपनी मांग नियमितिकरण के लिए धरना-प्रदर्शन किए। हमारी सिर्फ एक ही मांग है नियमितिकरण जिसे सरकार को पुरा करना चाहिए क्योंकि सरकार ने खुद ही चुनाव पूर्व वादा किया था कि सरकार बनने के 10 दिन के भीतर नियमितिकरण का तोहफा दिया जायेगा। परंतु आज दिनांक तक नियमितिकरण नही किया गया हैं। हमारे कई साथी इस कोरोना महामारी मे अपनी जान गवा चुके है । परंतु जान गवाने वाले कोरोना वारियर्स के परिवार को किसी भी प्रकार का सहयोग सरकार के द्वारा नही दिया गया हैं। सरकार हमारी मांगो को तत्काल पुरा नही कर सकती तो कम से कम एक समय-सीमा बता लिखित आसवासन देदे जिससे हम तत्काल हडताल को समाप्त कर अपने कार्य पर वापस लौट जायें।

rj ramjhajhar

rj ramjhajhar

Related post