स्वास्थ्य कर्मियों के हडताल से जिले मे स्वास्थ्य सेवाएं बदहाल कई स्वास्थ्य केन्द्रो के साथ-साथ कई गांवो मे स्वास्थ्य सेवाए बुरी तरह प्रभावित

 स्वास्थ्य कर्मियों के हडताल से जिले मे स्वास्थ्य सेवाएं बदहाल कई स्वास्थ्य केन्द्रो के साथ-साथ कई गांवो मे स्वास्थ्य सेवाए बुरी तरह प्रभावित

रंजीत बंजारे बेमेतरा – बेमेेतरा विधायक ने संविदा कर्मचारियो के मांग का समर्थन कर नियमितिकरण के लिए मुख्यमंत्री भुपेश को लिखा पत्र छ.ग. प्रदेश एनएचएम कर्मचारी संघ के प्रांतीय आव्हान पर जिले के समस्त संविदा स्वास्थ्य कर्मचारी अपनी एक सूत्रीय मांग छ.ग. राज्य के 13000 स्वास्थ्य कर्मियों के नियमितिकरण को लेकर लगातार हडताल मे है। बुधवार को भी जिले के स्वास्थ्य संविदा कर्मचारी बडी संख्या मे जिला मुख्यालय पहुच कर हडताल किये एवं मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय के सामने धरना-प्रदर्शन कर अपनी मांगो के लिए हल्ला बोला। तथा जिले के समस्त संविदा कर्मचारी नियमितिकरण मांग एवं हड़ताल को दबाव बनाके समाप्त करने के उद्देश्य से संघ के प्रांताध्यक्ष की बर्खास्तगी एवं एफआईआर की कार्यवाही के विरोध मे अपना सामूहिक त्याग पत्र मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय के आवक-जावक शाखा मे दिए। संविदा स्वास्थ्य कर्मियों के त्याग’पत्र दे देने से एैसा लग रहा है कि इनका आंदोलन लंबा चलने वाला हैं। इनके हड़ताल के कारण जिले मे स्वास्थ्य सेवाए बुरी तरह से प्रभावित है। आम जनता को स्वास्थ्य सेवाए नही मिल पा रही हैं। जिले के जिला अस्पताल, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रो, हेल्थ एवं वेलनेस सेंटर एवं उप स्वास्थ्य केन्द्रो मे लोगो को स्वास्थ्य सेवाए नही मिल पा रही हैं। लोग स्वास्थ्य सेवाओं के लिए भटक रहे हैं। जिले के कई स्वास्थ्य केन्द्रो मे ताला लगा हुआ है । लोग टीकाकरण एवं गर्भवती महिला जांच जैसे मुख्य स्वास्थ्य सेवाओं के लिए भटक रहे है। हडताल के कारण राज्य एवं केंद्र सरकार को छ. ग. राज्य की स्वास्थ्य की स्थिति की रिपोर्ट नही मिल पा रही है! संविदा कर्मचारियो के बेमियादी हडताल से जिले मे कोरोना जांच लगभग ठप हो गया है जिसके कारण कोविड-19 पाजीटीव केस मे कमी आई है। जांच कम होने से जिले मे कोरोना विस्फोट होने की संभावना है। कलेक्टर के बर्खास्तगी पत्र का भी जिले के कर्मचारियों पर कोई असर नही हुआ जिला ईकाई के संघ अध्यक्ष पुरन दास एवं उपाध्यक्ष डाॅ प्रीति ठाकुर , संजय तिवारी ने बताया कि हम पुरे छ.ग. प्रांत मे शांतिपूर्ण ढंग से अपनी एक सूत्रीय मांग नियमितिकरण के लिए हडताल कर रहे है । शासन द्वारा हमारे हडताल को शिथिल करने के लिए हमारे संघ के प्रांताध्यक्ष एवं कई जिलो के कार्यकारिणी सदस्यों को सेवा से बर्खास्त कर दण्डात्मक कार्यावाही की गई है जिसके विरोध मे हमने सामुहिक त्याग-पत्र दे दिया है। हमारी मांग नियमितिकरण को जब तक सरकार पुरा नही करती तब तक हडताल जारी रहेगा।
इधर विभिन्न अधिकारी/कर्मचारी संघ के साथ-साथ विभिन्न संगठनो का समर्थन स्वास्थ्य संविदा कर्मचारियों को मिल रहा है। सोमवार को स्वास्थ्य संयोजक कर्मचारी संघ छत्तीसगढ. के बेमेतरा जिला अध्यक्ष छ.ग.प्रदेश एनएचएम कर्मचारी संघ के जिला अध्यक्ष को पत्र लिख नियमितिकरण मांग के लिए समर्थन दिया है। वही छत्तीसगढ संयुक्त अनियमित कर्मचारी महासंघ के जिला अध्यक्ष नरेश साहू ने संघ जिलाध्यक्ष को पत्र लिख मांग को जायज बताते हुए समर्थन दिया है साथ ही जरूरत पडने पर नियमितिकरण के लिए मैदान मे कुदने की बात कहा हैं।
बुधवार को संघ के जिला अध्यक्ष पुरन दास एवं उपाध्यक्ष संजय तिवारी के साथ डाॅ ब्रजेश दुबे, डाॅ डोमन यादव, डाॅ प्रकाश रातडे, डाॅ तेज साहू, चंद्रकुमार देवांगन, सुनील पात्रे, यशवंत भारद्वाज, दीपक वर्मा, बलवंत बंजारे आदि ने बेमेतरा विधायक आशिष छाबडा से मिलकर अपनी मांगो से अवगत कराया । विधायक द्वारा संविदा स्वास्थ्य कर्मचारीयो की मांग नियमितिकरण के लिए मुख्यमंत्री को पत्र भी लिखा गया। साथ ही विधायक आशिष छाबडा द्वारा कर्मचारियों को आश्वासन दिया गया कि उनकी मांगो के संबंध मे विधायक दल की बैठक मे अपनी बात रखेंगे।

Manharan Banjare

Manharan Banjare

Reporter

Related post