सीएमएचओ ने कहा, सुविधाओं की कोई कमी नहीं सभी मरीज़ों का हो रहा निःशुल्क इलाज़, मिल रहा पर्याप्त भोजन और दवाई-पानी

 सीएमएचओ ने कहा, सुविधाओं की कोई कमी नहीं सभी मरीज़ों का हो रहा निःशुल्क इलाज़, मिल रहा पर्याप्त भोजन और दवाई-पानी

मनहरण बंजारे – बलौदाबाजार, 13 सितम्बर/ कोरोना मरीज़ों के बेहतर इलाज के लिए जिले की कोविड केयर सेन्टरों को राज्य सरकार की ओर से सभी जरूरी संसाधन एवं सुविधाएं मुहैया कराए जा रहे है। दवाई, मरीज़ों के खान-पान सहित धनराशि की कोई कमी नहीं है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ खेमराज सोनवानी ने विकासखण्ड मुख्यालय सिमगा में संचालित कोविड केयर सेण्टर को शासन से कोई फण्ड नहीं मिलने सम्बन्धी प्रकाशित खबर को बेबुनियाद बताते हुए इस संबंध में आम जनता को वस्तुस्थिति से अवगत कराया है।
डॉ सोनवानी ने जानकारी देते हुए बताया कि सिमगा सहित जिले की सभी कोविड केयर सेन्टरों में पर्याप्त मात्रा में दवाईयां एवं निःशुल्क भोजन-पानी उपलब्ध कराई जा रही है। कोविड सेण्टरों में भर्ती किये गए मरीज़ों के इलाज़ के लिए आपातकालीन कक्ष तैयार किये गये हैं , जिसमें ऑक्सीजन, अन्य मेडिकल उपकरण एवं जरूरी दवाईयां सुरक्षित रूप से पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध हैं। इन सेन्टरों में सेवारत डॉक्टर एवं स्टॉफ का नियमित रूप से प्रशिक्षण एवं मॉनिटरिंग किया जा रहा है। सेण्टरों में भर्ती एक-एक मरीज़ के हालात की जानकारी राज्य स्तरीय कोविड कंट्रोल रूम से शेयर की जा रही है एवं विशेषज्ञ डॉक्टरों के मार्गदर्शन में इलाज़ किया जा रहा है। चूंकि कोविड केयर सेण्टरों में बिना लक्षण अथवा कम लक्षण युक्त मरीज़ों को रखकर इलाज़ किया जाता है, इसलिए एक्स रे स्थापित करने की जरूरत नहीं रहती है। गंभीर लक्षण वाले मरीज़ों को मेकाहारा रायपुर अथवा एम्स या जिला मुख्यालय बलौदाबाजार के जिला कोविड अस्पताल ले जाकर इलाज़ करवाया जाता है। सिमगा के अनेक जटिल बीमारियों से पीड़ित मरीजों का इलाज़ भी कराया गया है।
सिमगा एवं कसडोल के कोविड केयर सेण्टरों को स्थानीय जनप्रतिनिधियों का उदार सहयोग भी प्राप्त हुआ है। सेण्टरों को तत्काल शुरू करने में इससे मदद मिली है। सेण्टरों में स्थानीय मरीज़ एवं जनप्रतिनिधियों तथा सह्योगकर्ताओं के निकट सम्बन्धी भी भर्ती हैं, जिन्हें बेहतर स्वास्थ्य सुविधा मिल रही है। कोरोना बीमारी के प्रभाव से जनता को बचाना राज्य सरकार और जिला प्रशासन की फिलहाल सर्वोच्च प्राथमिकता है। और इस काम के लिए किसी भी स्तर से फण्ड अथवा संसाधनों की कोई कमी नहीं है और भविष्य में भी रहेगी। डॉ सोनवानी ने आम जनता को घर से बाहर निकलने पर मास्क का उपयोग, बार-बार हाथ को साबुन से धोने और भीड़-भाड़ जगह से बचने के उपायों को ही कोरोना से बचाव का कारगर उपाय बताते हुए इसे अपनी जीवन शैली बनाने का अनुरोध किया है।

Manharan Banjare

Manharan Banjare

Reporter

Related post