राष्ट्रीय बागवानी मिशन योजना के तहत मल्चिंग विधि से की जा रही फलों की खेती, कलेक्टर ने फलों की खेती के लिए किसानों की सराहना किया.. 

 राष्ट्रीय बागवानी मिशन योजना के तहत मल्चिंग विधि से की जा रही फलों की खेती,  कलेक्टर ने फलों की खेती के लिए किसानों की सराहना किया.. 

राजनांदगांव// जिले में खैरागढ़ विकासखंड के ग्राम भोरमपुर और सिघौरी में किसानों द्वारा केला, पपीता, टमाटर और मिर्च की खेती बड़ी मात्रा में किया जा रहा है। इन किसानों द्वारा राष्ट्रीय बागवानी मिशन योजना के तहत मल्चिंग विधि द्वारा फलों की खेती की जा रही है। योजना के अंतर्गत पपीता, केला की खेती के लिए 50 प्रतिशत अनुदान दिया गया है। वहीं संरक्षित खेती योजना के तहत पपीता, केला और मिर्च के मल्चिंग के लिए भी 50 प्रतिशत का अनुदान दिया गया है।
कलेक्टर श्री टोपेश्वर वर्मा ने अपने दौरे में किसानों द्वारा फलों की खेती के बारे में जानकारी ली और इसके उत्पादन तथा विक्रय के संबंध में पूछा। उन्होंने किसान द्वारा की जा रही फलों की खेती की सराहना की तथा अन्य किसानों के लिए प्रेरणादायक बताया। ग्राम सिंघौरी के किसान श्री गणेश वर्मा ने बताया कि उनके पास साढ़े 8 एकड़ खेती जमीन है जिसमें वे 8 एकड़ में केला, पपीता, मिर्च, टमाटर की खेती करते हैं और आधा एकड़ में धान की खेती। उन्होंने बताया कि 12-15 लोग हमेशा कार्य में लगे रहते हैं जिन्हें रोजगार भी मिल रहा है वहीं आवश्यकता पडऩे पर 20-25 व्यक्तियों को कार्य में लगाया जाता है। इसका उत्पादन होने के बाद दुर्ग, भिलाई, धमधा के व्यापारियों द्वारा खरीदी की जा रही है। इस अवसर पर एसडीएम खैरागढ़ श्रीमती निष्ठा पाण्डेय, जनपद पंचायत सीईओ रोशनी भगत, सीएमओ खैरागढ़ सीमा बख्शी, नायब तहसीलदार श्री एचएल खुंटे, मनीषा देवांगन, श्री भूपेन्द्र नेताम सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे

rj ramjhajhar

rj ramjhajhar

Related post