रायगढ़: देवभूमि देवगांव के माँ तारिणी के दरबार में दिनोंदिन बढ़ती जा रही लोगों की आस्था

 रायगढ़: देवभूमि देवगांव के माँ तारिणी के दरबार में दिनोंदिन बढ़ती जा रही लोगों की आस्था

संवाददाता-मोहन नायक

कोविड 19 के चलते नियमो का कराया जा रहा पालन

बरमकेला। देवभूमि देवगांव में वर्ष 2011 से माँ तारिणी की स्थापना की गयी है।तब से लेकर अब तक नवरात्रि के अवसर पर यहाँ भक्तों का तांता लगा रहता है और मनोकामना ज्योति भी जलायी जाती है।मान्यता है कि सच्चे दिल से की गई माँ की आराधना से मन्नते और मनोकामनाएं पूरी होती है इसलिए दिनोदिन लोगो की आस्था बढ़ती जा रही।
स्वप्न में आये स्थान पर खुदाई में मिले माँ दुर्गा की भी की गई है स्थापना

माँ तारिणी की स्थापना और नियमित पूजा पाठ होने के दौरान यही मंदिर के बगल में रहने वाली एक महिला श्रीमती महेश्वरी इजरदार को स्वप्न में उनके घर में कमरे के नीचे माँ दुर्गा के प्रगट होने की बात सामने आयी ,उस स्थान पर खुदाई करने पर सचमुच में धातु की माँ दुर्गा की मूर्ति निकली जिसे बिधि बिधान से माँ तारिणी के साथ वही स्थापित कर दिया गया है।इस तरह से माँ तारिणी और दुर्गा की स्थापना और स्वप्न में आने की घटना के साथ साथ कई लोगो की मनोकामना पूर्ण होने से इसकी महत्व दिनोदिन बढ़ती ही जा रही है।

केरोना के कारण नियमो का किया जा रहा पालन

इस बार कोविड19 के चलते पूजा पाठ में भीड़ अथवा कलश यात्रा नही किया जा रहा मगर यहाँ के ब्यवस्थापक सीताराम साहू ने बताया कि सारे सहयोगियों और श्रद्धालुओं के नाम से दीप जलाकर मंत्र पढ़कर पूजा अर्चना की जा रही है।

इस सबके बावजूद आस्था के कारण कई भक्त कर नापते अब भी पहुंच रहे।आखिर देवभूमि की इस माँ तारिणी के दरबार में मनोकामना जो पूरी होती है।लोगो की आस्था एवं विस्वास का प्रतीक बन चूका है जो की नवरात्र पर लोग भले घर से सही, हर दिन जरूर माँ की आराधना कर रहे।

rj ramjhajhar

rj ramjhajhar

Related post