रायगढ़: कुपोषण दूर करने में आयुर्वेदिक औषधियों की उपयोगिता बताने लगाई गई प्रदर्शनी

 रायगढ़: कुपोषण दूर करने में आयुर्वेदिक औषधियों की उपयोगिता बताने लगाई गई प्रदर्शनी

कुपोषण दूर करने में आयुर्वेदिक औषधियों की उपयोगिता बताने लगाई गई प्रदर्शनी
रायगढ़, 24 सितम्बर2020/ कलेक्टर श्री भीम सिंह के मार्गदर्शन में शासकीय आयुर्वेद जिला चिकित्सालय रायगढ़ में 23 सितम्बर को जिला आयुर्वेद अधिकारी डॉ.गौरी शंकर पटेल की उपस्थिति में कुपोषित बच्चों के स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के उद्देश्य से शासन द्वारा संचालित पोषण आहार माह के माध्यम से बच्चों के उत्कृष्ट स्वास्थ्य के लिए आहार द्रव्यों की प्रदर्शनी लगायी गयी। जिसमें परियोजना अधिकारी (शहरी)श्री नितिन रंजन बेहरा, श्रीमती नेहा अग्रवाल (सुपरवाइजर), श्रीमती चेतना पटेल (सुपरवाइजर), श्रीमती अनीता नायक एवं काजल विश्वास (आंगनवाड़ी कार्यकर्ता) की उपस्थिति में पालकों को बच्चों के उत्कृष्ट स्वास्थ्य के लिए जिला आयुर्वेद अधिकारी डॉ गौरी शंकर पटेल ने कुपोषित बच्चे को आयुर्वेद चिकित्सा पद्धति द्वारा किस प्रकार से सुपोषित किया जा सकता है और आयुष विभाग इसमें किस प्रकार समस्त आंगनबाड़ी केन्द्रों में अपना अमूल्य योगदान दे सकती है।


आयुर्वेद औषधियां जैसे अरविंदासव, बालचतुभद्रा, अश्वगंधा चूर्ण, शतावरी चूर्ण, भूषण ग्राइप वाटर का बाल रोग चिकित्सा में विशेषकर कुपोषण में इनके महत्व पर विचार व्यक्त किए एवं चिकित्सालय के डॉ.नीरज कुमार मिश्रा ने बच्चों के शारीरिक और मानसिक विकास में पोषण के महत्व पर संक्षिप्त में प्रकाश डाला। इस कार्यक्रम में आयुष बिंग की डॉ. मीरा भगत एवं डॉ मुकेश साहू (होम्योपैथिक चिकित्सा अधिकारी) ने कुपोषण के संदर्भ में अपने अपने विचार व्यक्त किए। जिला आयुर्वेद चिकित्सालय के समस्त स्टाफ  ने इस कार्यक्रम को सफल बनाने में अपना योगदान किया।

rj ramjhajhar

rj ramjhajhar

Related post