रायगढ़ कलेक्टर श्री भीम सिंह ने घरघोड़ा क्षेत्र के आदर्श गौठान बैहामुड़ा तथा भालूमार गौठान का किया निरीक्षण

 रायगढ़  कलेक्टर श्री भीम सिंह ने घरघोड़ा क्षेत्र के आदर्श गौठान बैहामुड़ा तथा भालूमार गौठान का किया निरीक्षण

रायगढ़, 21 अगस्त 2020/ कलेक्टर श्री भीम सिंह ने आज घरघोड़ा क्षेत्र के प्रवास के दौरान आदर्श गौठान बैहामुड़ा का निरीक्षण किया और गौठान में प्रतिदिन आने वाले गोबर तथा वर्मी कम्पोस्ट तैयार किये जाने वाली प्रक्रिया का जायजा लिया। गौठान में कृषि विस्तार अधिकारी ने बताया कि 7 एकड़ भूमि में गौठान का निर्माण किया गया है पृथक चारागाह में मूंगफली तथा उड़द एवं पशुओं के लिये चारा लगाया गया है। गांव में कुल पशुपालकों की संख्या 128 है जिसमें 58 व्यक्ति गोबर बेचने के लिए एक्टिव है।


कलेक्टर श्री सिंह ने गोबर कलेक्शन के लिये ई-रिक्शा उपलब्ध कराये जाने के निर्देश दिये और कृषि विस्तार अधिकारी तथा पशु पालन विभाग के अधिकारी को गोबर खरीदी की मात्रा बढ़ाने के लिये अधिक प्रयास करने के निर्देश दिये। उन्होंने पशुपालकों और किसानों को गोबर विक्रय का महत्व तथा वर्मी कम्पोस्ट खाद के रूप में इसका उपयोग बताने के निर्देश दिये। उन्होंने गौठान में उपस्थित चरवाहे से बातचीत कर गोबर बेचने की तथा बिक्री की राशि प्राप्त होने की भी जानकारी ली। कलेक्टर श्री सिंह ने गौठान समिति के अध्यक्ष तथा ग्राम सरपंच को समीप के चारागाह में 80 प्रतिशत भाग में पशुओं के लिए चारा तथा 20 प्रतिशत भाग में सब्जी इत्यादि की खेती करने को कहा।
कलेक्टर श्री सिंह ने अपने प्रवास के दौरान ग्राम-बैहामुड़ा में पटवारी और नायब तहसीलदार द्वारा किये जा रहे गिरदावरी कार्य का मुआयना करते हुये पटवारी को राज्य शासन के निर्देशानुसार मौके पर वास्तविक रकबे में लगाई गई फसल के अनुसार गिरदावरी करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि फसल की गिरदावरी के दौरान किसान का उपस्थित होना आवश्यक है और उसके फसल के साथ फोटो खीचकर कार्यालयीन कम्प्यूटर में रिकार्ड रखने के निर्देश दिये। कलेक्टर श्री सिंह ने अपने प्रवास के दौरान घरघोड़ा क्षेत्र के ग्राम पंचायत-भालूमार में द्वितीय चरण के गौठान में की जा रही तैयारियों का जायजा लिया और गौठान समिति के अध्यक्ष से शासन द्वारा प्राप्त होने वाली राशि के संबंध में जानकारी ली और गौठान में पशुओं को लाने के लिए आवश्यक चारा व्यवस्था पीने के पानी तथा शेड निर्माण के संबंध में निर्देशित किया।  उन्होंने स्व-सहायता समूह के सदस्यों को चारागाह स्थित तालाब में मछली उत्पादन का प्रस्ताव मत्स्य पालन विभाग के माध्यम से प्रस्तुत करने के निर्देश दिये एवं बताया कि मछली उत्पादन और बिक्री से ग्राम की महिला स्व-सहायता समूह को अधिक आमदनी होगी। उन्होंने महिला स्व-समूह की सदस्यों से पिछले वर्ष मूंगफली की बिक्री से प्राप्त होने वाली राशि की भी जानकारी ली।

इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक श्री संतोष कुमार सिंह, सीईओ जिला पंचायत सुश्री ऋचा प्रकाश चौधरी, एसडीएम घरघोड़ा सहित अन्य संबंधित विभागों के अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित थे।

rj ramjhajhar

rj ramjhajhar

Related post