रायगढ़ कलेक्टर श्री भीम सिंह द्वारा जिले में पदस्थ सभी विभागों के अधिकारियों को गिरदावरी की जांच किये जाने की जिम्मेदारी सौंपी

 रायगढ़ कलेक्टर श्री भीम सिंह द्वारा जिले में पदस्थ सभी विभागों के अधिकारियों को गिरदावरी की जांच किये जाने की जिम्मेदारी सौंपी

रायगढ़ कलेक्टर श्री भीम सिंह द्वारा जिले में पदस्थ सभी विभागों के अधिकारियों को गिरदावरी की जांच किये जाने की जिम्मेदारी सौंपी गई है। जिले में धान उपार्जन केन्द्रों के अंतर्गत आने वाले ग्रामों में जिस ग्राम का पटवारी द्वारा गिरदावरी कार्य पूर्ण कर लिया गया है उन ग्रामों का विस्तृत जांच किये जाने हेतु अलग-अलग विभागों में पदस्थ अधिकारियों को धान उपार्जन केन्द्र के अंतर्गत आने वाले गांवों के गिरदावरी जांच की जिम्मेदारी सौंपी गयी है। इन निर्देशों के परिपालन के संबंध में आज एडीएम श्री राजेन्द्र कटारा ने कलेक्टोरेट स्थित सृजन सभाकक्ष में सभी विभागों के अधिकारी जिन्हें जिम्मेदारी सौंपी गई है उनकी बैठक लेकर गिरदावरी जांच की प्रक्रिया और निर्धारित प्रपत्र में रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिये। उन्होंने बताया कि निरीक्षणकर्ता अधिकारी यह जांच करेंगे कि पटवारी द्वारा प्रत्येक खसरे नंबर के खेत पर जाकर फसल की सही प्रविष्टि की गयी है कि नहीं, किसान के खेत पर निर्मित मेड़ का रकबा खेत के रकबे में से कम की गई है कि नहीं, खेत पर स्थित वृक्ष एवं अन्य निर्माण की प्रविष्टि का उल्लेख है या नहीं, खेत में अन्य फसल के स्थान पर धान की प्रविष्टि तो नहीं की गई है। निरीक्षण के समय पटवारी ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी और पंचायत सचिव की उपस्थिति अनिवार्य है। साथ ही जिस भूमि की गिरदावरी जांच हो उस किसान को भी मौके पर उपलब्ध रहना चाहिये।

एडीएम श्री कटारा ने निर्देशित किया निरीक्षणकर्ता अधिकारी जब क्षेत्र में पाये जो तो पटवारी, राजस्व निरीक्षक को मोबाइल नंबर पर सूचित कर दें ताकि वे गांव में उपस्थित रहे। यदि पटवारी राजस्व निरीक्षक अनुपस्थित पाये जाते है तो निरीक्षणकर्ता अधिकारी सीधे एसडीएम को अवगत करा सकते है। उन्होंने यह भी कहा कि निरीक्षणकर्ता अधिकारी यदि गिरदावरी के कार्यांे में अंतर या त्रुटि पाते है तो निर्धारित प्रपत्र में अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत करेंगे जिससे संबंधित कर्मचारी के विरूद्ध आवश्यक कार्यवाही की जायेगी और त्रुटियों को सुधारा जायेगा।
एडीएम श्री कटारा ने यह भी निर्देशित किया कि निरीक्षण के दौरान पटवारी और राजस्व निरीक्षक द्वारा बताये गये खसरा नंबर या क्षेत्र विशेष पर ध्यान न देते हुये अपने अनुसार रेण्डम जांच कर रिपोर्ट प्रस्तुत करेंगे। उन्होंने कहा कि गिरदावरी अत्यंत महत्वपूर्ण कार्य है और जांच पूरी गंभीरता से की जानी है अत: जिन अधिकारियों को जांच की जिम्मेदारी दी गई है वे मौके पर स्वयं पहुंचकर जांच करेंगे।
इस अवसर पर अपर कलेक्टर श्री आर.ए.कुरूवंशी सहित राजस्व विभाग तथा सभी विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

rj ramjhajhar

rj ramjhajhar

Related post