राजनांदगांव : प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना में किसानों के त्रुटिपूर्ण जानकारी में सुधार के लिए अपील आगामी किश्त का लाभ लेने के लिए जानकारी में संशोधन जरूरी

 राजनांदगांव : प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना में किसानों के त्रुटिपूर्ण जानकारी में सुधार के लिए अपील आगामी किश्त का लाभ लेने के लिए जानकारी में संशोधन जरूरी

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना में किसानों के त्रुटिपूर्ण जानकारी में सुधार के लिए अपील
आगामी किश्त का लाभ लेने के लिए जानकारी में संशोधन जरूरी


राजनांदगांव 10 सितम्बर 2020। किसान परिवारों को वित्तीय सहायता प्रदान करने के लिए केन्द्र सरकार द्वारा प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना 2018 में आरंभ की गई है, जिसके तहत अपवर्जन श्रेणी (सरकारी कर्मचारी, पेंशनधारी एवं आयकरदाता) के किसान परिवार को छोड़कर शेष कृषक भू-स्वामी को 3 किस्तों में 2000 रूपए सालाना राशि 6000 रूपए की वित्तीय सहायता प्रदान की जाती है। कृषकों को योजना का लाभ पंजीयन की तिथि से मिलना प्रारंभ होता है।
योजना के तहत किसान परिवार/भू-स्वामी पंजीयन के लिए बी-1, बैंक दस्तावेज, आधार कार्ड के साथ घोषणा पत्र जमा कर क्षेत्रीय ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी से आवेदन कर सकते है या लोक सेवा केन्द्रों/पी.एम. किसान पोर्टल से सीधे पंजीयन करा सकते है। पंजीयन के पश्चात किसान के आधार का UIDAI तथा बैंक विवरण का पी.एम.एफ.एस. से सत्यापन होता है। दोनों प्रक्रिया सही पाये जाने पर कार्रवाई की जाती है।
जिले में बहुत से किसानों का त्रुटिपूर्ण पंजीयन होना पाया गया है। जिसमें आधार कार्ड नम्बर गलत होना, आधार कार्ड के अनुसार नाम न होना तथा बैंक खाता क्रमांक, आई.एफ.एस.सी. कोड सही नहीं होने के कारण सम्मान निधि की किश्त किसानों को नहीं मिल पा रही है। जब तक किसानों के त्रुटिपूर्ण जानकारी में सुधार नहीं किया जाएगा तब तक सम्मान निधि के आगामी किश्तो का लाभ नहीं मिल पाएगा।
किसानों से अपील है कि क्षेत्रीय ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी से सम्पर्क कर आधार कार्ड एवं बैंक विवरण से संबंधित जानकारी में आवश्यक सुधार करा लें, ताकि योजना के तहत आगामी किश्तो का लाभ प्राप्त हो सके। इसी प्रकार पात्र किसान परिवार नवीन पंजीयन ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी या लोक सेवा केन्द्र या पी.एम. किसान पोर्टल से सीधे पंजीयन करा सकते है। इसके लिए पंजीकृत किसान को आवश्यक दस्तावेज सहित घोषणा पत्र क्षेत्रीय ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी, कार्यालय वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी, जिला कार्यालय को उपलब्ध कराई जा सकती है। जिससे दस्तावेज परीक्षण के उपरांत अनुमोदन की कार्यवाही किया जा सके।

rj ramjhajhar

rj ramjhajhar

Related post