राजनांदगांव: धान खरीदी करने वाले कोचियों पर कड़ी निगरानी ,वर्मी कम्पोस्ट के निर्माण के कार्य में गति

 राजनांदगांव: धान खरीदी करने वाले कोचियों पर कड़ी निगरानी ,वर्मी कम्पोस्ट के निर्माण के कार्य में गति

कोरोना सघन सामुदायिक सर्वे अभियान के दौरान
लगातार मॉनिटरिंग करें – कलेक्टर
धान खरीदी करने वाले कोचियों पर कड़ी निगरानी रखें
वर्मी कम्पोस्ट के निर्माण के कार्य में गति लाएं
राजनांदगांव 06 अक्टूबर 2020। कलेक्टर श्री टोपेश्वर वर्मा ने कहा कि कोरोना संक्रमण से बचाव एवं नियंत्रण के लिए संक्रमित व्यक्तियों की त्वरित पहचान के लिए  5 अक्टूबर से 12 अक्टूबर तक कोरोना सघन सामुदायिक सर्वे अभियान चलाया जा रहा है। इस अभियान से कोरोना संक्रमित व्यक्तियों की पहचान कर उन्हें आइसोलेट एवं उपचार कर संक्रमण की चेन को तोड़ा जा सकता है। उन्होंने कहा कि यह बहुत अच्छा अवसर है और संक्रमित लोगों की पहचान होने से उनका उपचार प्रारंभ हो सकेगा। कलेक्टर श्री टोपेश्वर वर्मा ने आज समय-सीमा की बैठक में सभी विभागों के अधिकारियों को अभियान के तहत लगातार मॉनिटरिंग करने के निर्देश दिए हंै। उन्होंने कहा कि प्रारंभिक लक्षण वाले सर्दी, खांसी और बुखार के मरीज की जांच जरूर करें। सर्वे का मुख्य उद्देश्य लोगों की पहचान कर उनका इलाज प्रारंभ करना है जिससे समय रहते उन्हें ठीक किया जा सके और मृत्यु को रोका जा सके। उन्होंने कहा कि भीड़ वाली जगह में संक्रमण फैलने की संभावना अधिक रहती है इन जगहों में जाने से बचना चाहिए। मितानिन, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, सरपंच, सचिव कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करने लोगों को जागरूक करें। इसके लिए सभी गांव में प्रचार-प्रसार करें।
कलेक्टर श्री टोपेश्वर वर्मा ने कहा कि गिरदावरी के प्रकाशन के बाद प्राप्त दावा-आपत्ति का जल्द ही निवारण करें। इसके बाद इसका फाइनल एंट्री करें। धान, मक्का खरीदी के लिए पंजीयन का कार्य अच्छे से करें। भुईयां साफ्टवेयर से रकबे का मिलान जरूर करें। उन्होंने कहा कि धान खरीदी के लिए पहले ही तैयारी कर लिया जाना चाहिए। सोसायटी में बारदाना इकट्ठा करें तथा इसे सुरक्षित रखे। जिले की अधिकांश तहसील महाराष्ट्र और मध्यप्रदेश से लगी हुई है। सीमा से लगे गांव में धान खरीदी करने वाले कोचियों पर कड़ी निगरानी रखें। कलेक्टर श्री वर्मा ने कहा कि राज्य में सबसे ज्यादा गोबर की खरीदी की गई है लेकिन यह जरूरी है कि वर्मी कम्पोस्ट का निर्माण भी उचित मात्रा में हो। इसके निर्माण में गंभीरता लाने की जरूरत है। लापरवाही करने पर तत्काल कार्रवाई की जाएगी। जहां वर्मी कम्पोस्ट निर्माण किया जा रहा है इसे सुरक्षित रखे तथा वर्मी की गुणवत्ता जांच के लिए सैम्पल केन्द्रों में भेजे। गौठानों के लिए बनाए नोडल अधिकारी लगातार निरीक्षण करें।
कलेक्टर श्री वर्मा ने कहा कि आकांक्षी जिले के रैकिंग में सुधार करने की जरूरत है। गर्भवती माताओं का एएनसी चेकअप, टीकाकरण, संस्थागत प्रसव में कमी नहीं आनी चाहिए। मितानिन, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, स्वास्थ्य विभाग इसमें लगातार कार्य करें। सभी एसडीएम इस कार्य को प्राथमिकता से कराएं। श्री वर्मा ने कहा कि वनधन केन्द्र में उत्पाद प्रारंभ हो जाना चाहिए। महुआ, इमली के अलावा रागी, कुल्थी जैसे फसल लेने के लिए किसानों को प्रेरित करें और जानकारी दें कि इनके द्वारा उत्पादन किए फसल को खरीदा जाएगा। उन्होंने मनरेगा के अंतर्गत श्रमिकों की संख्या बढ़ाने पर जोर दिया है। गौठानों में वर्मी बेड, शेड बनाया जाना है। इसके लिए मनरेगा के तहत श्रमिकों को रोजगार दिलाए। कलेक्टर श्री वर्मा ने कहा कि नवरात्रि, दशहरा के लिए दिशा-निर्देश जारी हो गए है सभी एसडीएम आयोजकों की बैठक लेकर इसके प्रोटोकॉल के बारे में जानकारी दें। उन्होंने मुख्यमंत्री, जन चौपाल समय-सीमा में लंबित आवेदनों का निराकरण करने के निर्देश दिए हैं।
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मिथलेश चौधरी ने कहा कि कोरोना सामुदायिक सर्वे अभियान गंभीरता से करना है। कोई भी लक्षण वाले मरीज जांच से नहीं छूटना चाहिए। यह सभी बीएमओ की जिम्मेदारी है वे लगातार इसकी मॉनिटरिंग करें। गांव एवं मोहल्ले स्तर पर आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, सहायिका, मितानिन, स्वास्थ्य कार्यकर्ता, स्वास्थ्य विभाग एवं महिला एवं बाल विकास विभाग डोर-टू-डोर सर्वे कर जानकारी एकत्रित करें। सर्दी, खांसी, बुखार और 60 साल के बुजुर्ग तथा अन्य बीमारी है तो जरूर जांच करें। जिससे इसका पहचान कर जल्द ही इलाज किया जा सके। इसके लिए सरपंच, सचिव तथा जमीनी स्तर पर कार्य करने वाले कर्मचारी पर्र्याप्त प्रचार-प्रसार करें। पॉजिटिव आने पर होम आइसोलेशन में रहने वाले प्रोटोकॉल का पूरा पालन करें यह भी सुनिश्चित करें। कोविड-19 केयर सेंटर में सभी व्यवस्था होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि जिन जगहों पर कोरोना टेस्ट किया जाएगा वहां भीड़ नहीं होनी चाहिए। कोरोना प्रोटोकॉल का पालन जरूर करें। उन्होंने कहा कि इस अभियान के तहत शत प्रतिशत सर्वे होना चाहिए। इसके लिए वॉल राईटिंग प्रचार-प्रसार जरूर करें। यदि कोई पॉजिटिव आते हैं तो उनके परिवार के सदस्यों की भी जांच जरूर करें। इस अवसर पर अपर कलेक्टर श्री हरिकृष्ण शर्मा, अपर कलेक्टर श्री सीएल मारकण्डेय, सीईओ जिला पंचायत श्रीमती तनुजा सलाम, एसडीएम राजनांदगांव श्री मुकेश रावटे सहित अन्य विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे। बैठक में वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिए सभी विकासखंड स्तरीय अधिकारी जुड़े रहे।

rj ramjhajhar

rj ramjhajhar

Related post