मुंगेली : मुख्यमंत्री बघेल की अध्यक्षता में आयोजित छत्तीसगढ़ मनरेगा परिषद की बैठक मुंगेली से दुर्गा बघेल हुए शामिल

 मुंगेली : मुख्यमंत्री बघेल की अध्यक्षता में आयोजित छत्तीसगढ़ मनरेगा परिषद की बैठक मुंगेली से दुर्गा बघेल हुए शामिल

मुख्यमंत्री श्री बघेल की अध्यक्षता में आयोजित छत्तीसगढ़ मनरेगा परिषद की बैठक मुंगेली से दुर्गा बघेल हुए शामिल

मुंगेली 10 सितम्बर 2020//  मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की अध्यक्षता में छत्तीसगढ़ ग्रामीण रोजगार गारंटी परिषद की बैठक आज दोपहर 12 बजे विडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से आयोजित की गई।  जिसमें पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग मंत्री श्री टी.एस सिंहदेव, वन मंत्री श्री मोहम्मद अकबर, कृषि एवं जैव प्रौद्योगिकी मंत्री श्री रविंद्र चैबे, गृह मंत्री श्री ताम्रध्वज साहू, श्रम मंत्री श्री शिव कुमार डहरिया, मुख्य सचिव श्री आर पी. मंडल, वित्त विभाग के अपर सचिव श्री अमिताभ जैन, एसीएस श्री सुब्रत साहू, जिला बस्तर से श्री बलराम मौर्य, सरगुजा से श्रीमती मधु सिंह, दुर्ग से श्रीमती जय श्री वर्मा, कबीरधाम से श्री कलीम खान, राजनांदगांव से श्री गुलाब वर्मा एवं जिला मुंगेली से श्री दुर्गा बघेल सम्मिलित हुए।  बैठक में श्री गौरव द्विवेदी प्रमुख सचिव, पंग्राविवि द्वारा राज्य मनरेगा के प्रगति एवं वर्तमान में कोरोना महामारी के दृष्टिगत इसकी बढ़ती निर्भरता से अध्यक्ष एवं परिषद के सदस्यों को अवगत कराया। सर्वप्रथम विगत बैठक के पालन प्रतिवेदन पर चर्चा की गई।  जिसमें विगत 3 वर्षों के नर्सरी, कूप निर्माण, डबरी एवं नहर लाइनिंग की प्रगति बताई गई। उसके पश्चात् मनरेगा की भौतिक प्रगति में पूर्व वर्ष अगस्त 2019 तक 674 लाख मानव दिवस की तुलना में इस वर्ष माह अगस्त तक 952 लाख  मानव दिवस  (141 प्रतिशत अधिक) होने के संबंध में मुख्यमंत्री को अवगत कराया गया। साथ ही राज्य के प्राथमिकता वाले कार्य धान, चबूतरा निर्माण, नवीन पंचायत भवन, आंगनबाड़ी भवन, नरवा विकास, गोठान निर्माण, चारागाह विकास, घुरुवा (नाफेड वर्मी/टैंक) निर्माण, पौध नर्सरी, सड़क किनारे वृक्षारोपण इत्यादि महत्वपूर्ण कार्यों की प्रगति पर चर्चा की गई, एवं सभी  सदस्यों से सुझाव भी लिए गए साथ ही प्रमुख सचिव द्वारा जिओ-ट्रैगिंग, एफआरए हितग्राहियों को रोजगार दिलाने एवं जीआईएस प्लान तैयार करने में छत्तीसगढ़ का प्रथम स्थान होने के संबंध में मुख्यमंत्री श्री बघेल को अवगत कराया गया।  इसके अतिरिक्त मनरेगा के बेहतर संचालन हेतु सभी से आवश्यक सुझाव लिए गए।  जिसमें श्री दुर्गा बघेल ने अपना अभिमत व्यक्त करते हुए मनरेगा अंतर्गत पूर्व वर्ष में निर्मित मिट्टीकृत सड़कों में मुरमीकरण अथवा डब्ल्यूबीएम स्वीकृत कराने का  निवेदन किया।  जिसमें मुख्यमंत्री श्री बघेल ने इस संबंध में शीघ्र कोई निर्णय लेने का आश्वासन दिया । इस प्रकार 2 घंटे तक विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की गई।  विदित हो कि यह बैठक विगत 24 मार्च 2017 के बाद आयोजित हुई है।

rj ramjhajhar

rj ramjhajhar

Related post