मुंगेली जिले के राजस्व अनुभाग पथरिया के एसडीएम द्वारा अतिवृष्टि एवं बाढ़ से प्रभावितों के बचाव हेतु किया गया कार्य सराहनीय,1343 प्रभावितो को सुरक्षित स्थान पर की गई ठहराने की व्यवस्था,बाढ़ मे फसे 36 लोगों को किया गया रेस्क्यू

 मुंगेली जिले के राजस्व अनुभाग पथरिया के एसडीएम द्वारा अतिवृष्टि एवं बाढ़ से प्रभावितों के बचाव हेतु किया गया कार्य सराहनीय,1343 प्रभावितो को सुरक्षित स्थान पर की गई ठहराने की व्यवस्था,बाढ़ मे फसे 36 लोगों को किया गया रेस्क्यू

 

मुंगेली 25 अगस्त 2020// चालू मानसून के दौरान जिले में विगत दिनों तीन दिन से लगातार अत्यधिक हुई बारिश से जनजीवन पूरी तरह प्रभावित हो गया था। ऐसे समय में कलेक्टर श्री पी.एस.एल्मा के मार्गदर्शन में राजस्व अनुभाग पथरिया के अनुविभागीय अधिकारी श्रीमति अनुराधा अग्रवाल द्वारा अतिवृष्टि एवं बाढ़ से प्रभावितों के बचाव हेतु किया गया कार्य अति महत्वपूर्ण एवं सराहनीय रहा। उल्लेखनीय है कि विगत दिनों तीन दिन से लगातार अत्यधिक बारिश होने के कारण राजीव गांधी जलाशय (खुड़िया बांध) से आने वाले जल बहाव के कारण मनियारी नदी, हाथीनाला और रहन नदी अपने पूरे उफान पर थे। जिसके फलस्वरूप मनियारी नदी के किनारे स्थित तहसील पथरिया के ग्राम तरकीडीह, अमलीकापा, अमोरा भिलाई, नवागांव, सल्फा लुकाऊकापा, परसिया, सकेत तथा कान्हरकापा बस्ती में पानी आ जाने से गंभीर स्थिति निर्मित हो गई थी। इसे देखते हुए अनुविभागीय अधिकारी राजस्व श्रीमति अग्रवाल ने राजस्व अमलों के साथ तत्काॅल राहत एवं बचाव कार्य प्रारंभ किया गया । उनके द्वारा 406 परिवारो के 1343 प्रभावित ग्रामीणों को सुरक्षित निकालकर स्कूलों, आंगनबाड़ी केंद्रो और पंचायत भवनों में ठहराया गया। उनके लिए भोजन, पानी, मास्क और सेनेटाइजर की भी व्यवस्था की गई ।

ग्राम अमोरा में नदी किनारें कृषि फार्मो में मकान बनाकर खेती बाडी करने वाले बाढ़ में फसे 36 व्यक्तिों को पुलिस अधीक्षक श्री अरविंद कुजूर और अनुविभागीय अधिकारी राजस्व श्रीमति अग्रवाल के संयुक्त नेतृत्व में राजस्व, पुलिस की आपदा प्रबंधन दल और एसडीआरएफ के बचाव दल द्वारा मोटर बोट से रेस्क्यू कर सुरक्षित बाहर निकालकर उन्हे सुरक्षित स्थानों पर ठहराया गया। इनमें एसडीआरएफ के बचाव दल के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री कमलेश्वर चंदेल एवं श्री सीडी तिर्की पथरिया के तहसीलदार श्री हरिओम द्विवेदी, नायब तहसीलदार श्री वेदकुमार सोनकर राजस्व निरीक्षक श्री शंकर लाल मतवारे, श्री रामदास कोरी, पटवारी श्री अजय कुमार साहू शामिल थे।
उल्लेखनीय है कि कलेक्टर श्री एल्मा के निर्देश पर राजस्व अनुभाग पथरिया के अनुविभागीय अधिकारी द्वारा 18 अगस्त को ही ग्राम अमोरा की गंभीर स्थिति को देखते हुए।एसडीआरएफ टीम को सूचित कर तत्काॅल बुलाया गया । किन्तु रात में अत्यधिक पानी के कारण रेस्क्यू कार्य नही किया जा सका। जिसके फलस्वरूप राजस्व एवं पुलिस के अमलों को मौके पर ही रात गुजरना पड़ा । सुबह होते ही एसडीआरएफ दल राजस्व एवं पुलिस अमलों के सहयोग से प्रभावितों को रेस्क्यू किया जाकर अमोरा, रावणभाठा से 22 एवं अमोरा में मेला स्थल से 8 तथा नवगांव, गिरधौना से 06 व्यक्तियों को सुरक्षित स्थानों पर पहुॅचया गया है। इसमें बच्चों सहित 24 पुरूष एवं 12 महिला शामिल थें। एसडीएम पथरिया के निर्देश पर खण्ड चिकित्सा अधिकारी द्वारा स्वास्थ्य परीक्षण एवं ग्राम पंचायतो के सरपंच और सचिवों द्वारा भोजन की व्यवस्था सुनिश्चित की गई । कलेक्टर श्री एल्मा के मार्गदर्शन में राजस्व अमला आपदा से बचाव कार्य हेतु सतत् एवं त्वरित कार्यवाही हेतु तत्पर है।

rj ramjhajhar

rj ramjhajhar

Related post