मुंगेली जिला में सहकारी समितियों की संख्या 43 से बढ़कर अब हो जाएगी 66

 मुंगेली जिला में सहकारी समितियों की संख्या 43 से बढ़कर अब हो जाएगी 66

मुंगेली 09  सितम्बर 2020// जिले में कृषि साख सेवा सहकारी समितियों के संख्या बढने वाली है। यह किसानों के लिए खुशी की बात है। कलेक्टर श्री पी.एस.एल्मा ने समितियों का पुनर्गठन कर 23 गांवों में नए 23 कृषि साख सेवा, सहकारी समिति बनाने के लिए राज्य सरकार को प्रस्ताव भेजा है। इनमें ग्राम डिंडौरी, मसनी, सकेत, विचारपुर , सिलतरा, नवागांव (घु.), हथनीकला, सेमरकोना, धनगांव, रामबोड़, सावां, रैतराकला, दशरंगपुर, खुटेरा, खुड़िया, पडियाईन, किरना, हिंछापुर, पथरगढ़ी, भालूखांेदरा, गीधा, घुमा और लगरा शामिल है। इन 23 गांवों में 23 नए कृषि साख सहकारी समिति का गठन होने जाने पर जिले में अब सहकारी समितियों की संख्या 43 से बढ़कर 66 हो जाएगी। इस संबंध में दावा अपत्ति आमंत्रित किये गये है। कोई भी पक्षकार या व्यक्ति 10 सितम्बर तक अपना दावा अपत्ति विभाग की मेल-आईडी  [email protected] या पंजीयक सहकारी संस्थाएं छत्तीसगढ़, इन्द्रावती भवन, नवा रायपुर अटल नगर में प्रस्तुत कर सकते है।
मुंगेली जिले के सहायक पंजीयक, सहकारी संस्थाएं श्री उत्तर कुमार कौशिक ने बताया कि  जिले में केवल 43 कृषि साख सेवा सहकारी समिति होने के कारण जिले के किसानों को धान की बोआई के समय खाद,बीज लेने तथा समर्थन मूल्य पर धान बेचते वक्त उन्हे कठिनाओं को सामना करना पडता था। उन्हे करीब 10 से 15 किलो मीटर की दूरी तय करनी पड़ती थी। अब जिले में 23 नए कृषि साख सेवा सहकारी समिति का गठन की स्वीकृति मिलने के बाद किसानों को खाद, बीज एवं समर्थन मूल्य पर धान बेचने के लिए करीब 10 से 15 किलो मीटर की दूरी तय नही करनी पडेगी। उन्हे उनके नजदीकी  कृषि साख सेवा सहकारी समिति में ही खाद, बीज लेने और समर्थन मूल्य में धान बेचने की सुविधा हासिल होगी।


श्री कौशिक ने बताया कि जिले में कृषि साख सेवा सहकारी समितियों के पुनर्गठन के लिए राज्य सरकार को प्रस्ताव भेजा गया था। जिसके फलस्वरूप सहकारिता विभाग,मंत्रालय को अधिसूचना द्वारा प्राथमिक कृषि साख सहकारी समिति पुनर्गठन योजना 2019 के अंतर्गत जिला से संबंधित पुनर्गठन अनुसूची एक, दो एवं तीन का प्रकाशन किया गया है। जिले में अब 23 नए कृषि साख सहकारी समिति की स्वीकृति हो जाने पर जिले के किसानों को काफी सुविधा होगी।

rj ramjhajhar

rj ramjhajhar

Related post