मुंगेली: कलेक्टर ने प्राप्त की स्वास्थ्य और महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारियों की बैठक लेकर सामुदायिक सर्वे अभियान के कार्यो की प्रगति की जानकारी

 मुंगेली: कलेक्टर ने प्राप्त की स्वास्थ्य और महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारियों की बैठक लेकर सामुदायिक सर्वे अभियान के कार्यो की प्रगति की जानकारी

कलेक्टर ने प्राप्त की स्वास्थ्य और महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारियों की बैठक लेकर सामुदायिक सर्वे अभियान के कार्यो की प्रगति की जानकारी

दिये आवश्यक निर्देश

मुंगेली 07 अक्टूबर 2020// कलेक्टर श्री पी.एस. एल्मा ने शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना संक्रमण के नियंत्रण एवं रोकथाम के लिए 5 अक्टूबर से 12 अक्टूबर तक सामुदायिक सर्वे अभियान के कार्यो की प्रगति के संबंध में आज जिला कलेक्टोरेट स्थित मनियारी सभा कक्ष में स्वास्थ्य और महिला बाल विकास विभाग के अधिकारियों की संयुक्त बैठक ली। बैठक में उन्होने हर घर का सर्वे में हाई रिस्क ग्रुप और लक्षण वाले मरीजो की पहचान के संबंध में जानकारी प्राप्त की। बैठक में उन्होने कहा कि लक्षण की पहचान होते ही 24 घंटे के अंदर सेम्पल लिये जाएंगे। सबसे पहले रैपिड एंटिजन टेस्ट किया जाएगा, यदि लक्षण के बाद भी टेस्ट निगेटिव होगा तो आरटीपीसीआर टेस्ट कराया जाएगा। परन्तु यदि रैपिड टेस्ट पाॅजिटिव होगा तो आरटीपीसीआर नही होगा। जांच के बाद विशेषज्ञ चिकित्सक निर्णय लेंगे कि मरीज को आईसोलेशन में रखना है अथवा अस्पताल में भर्ती किया जाएगा।

इस अवसर पर उन्होने सर्वे टीम को पूरी सावधानी के साथ सर्वे करने के लिए आवश्यक निर्देश दिये। बैठक में उन्होने कहा कि सर्दी, खासी, बुखार, सांस लेने में तकलीफ, दस्त, उल्टी, छाती में दर्द, होठ एवं चेहरे का नीला पड़ जाना, सुघने अथवा स्वाद की शक्ति में कमी कोविड-19 महामारी का लक्षण है। लक्षण पाये जाने पर नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र अथवा स्वास्थ्य कार्यक्रर्ता से संपर्क कर कोरोना जांच कराने के संबंध में आवश्यक  निर्देश दिये। बैठक में उन्होने कहा कि कोविड-19 संक्रमित मरीजो को 17 दिवस पर पूर्ण रूप से होमआईसोलेशन में रहना अनिवार्य है और स्वास्थ्य विभाग द्वारा प्रदान की गई दवाई, पर्ची के अनुसार सेवन करना अनिवार्य है। उन्होने कोविड-19 के मरीजो के घर के द्वार पर होमआईसोलेशन प्रपत्र चस्पा करने और होमआईसोलेशन में रहने वाले मरीजो को घर 17 दिन तक घर से बाहर नही निकलने के संबंध में प्रचार-प्रसार करने के निर्देश दिये। घर से बाहर पाये जाने पर धारा 188 के तहत दंडात्माक कार्यवाही करने की बात कहीं। बैठक में सर्विलांस टीम का गठन, घर-घर जाकर संघन परीक्षण आदि के संबंध में किये जा रहे प्रचार-प्रसार के संबंध में भी जानकारी प्राप्त की। इस अवसर पर उन्होने डेडिकेटेट कोविड अस्पताल मुंगेली में भर्ती मरीजों की संख्या, भोजन व्यवस्था, साफ-सफाई, डेट बाडी को हेंडल करने हेतु कर्मचारियों की व्यवस्था, किट आदि के संबंध में जानकारी प्राप्त की और संबंधितों को आवश्यक निर्देश दिये। बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्य पालन अधिकारी श्रीमति नुपूर राशि पन्ना ने भी कोरोना की कड़ी तोडने घर-घर की जा रही सर्वे के संबंध में आवश्यक मार्गदर्शन दिये। इस अवसर पर  मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी श्री महादेव तेंदवे, सिविल सर्जन सह अस्पताल अधीक्षक डाॅ. के.आर भूआर्य, सभी विकास खण्ड के विकास खण्ड चिकित्सा अधिकारी अन्य चिकित्सा सहित महिला एवं बाल विकास विभाग के सभी परियोजना अधिकारी उपस्थित थे।

rj ramjhajhar

rj ramjhajhar

Related post