भीम सिंह ने आज अपने कार्यालय से वीडियो कान्फ्रेसिंग द्वारा समय-सीमा की बैठक ली। विभागीय अधिकारी अपने कार्यालयों से इस बैठक में जुड़े।

 भीम सिंह ने आज अपने कार्यालय से वीडियो कान्फ्रेसिंग द्वारा समय-सीमा की बैठक ली। विभागीय अधिकारी अपने कार्यालयों से इस बैठक में जुड़े।

कलेक्टर  सिंह ने गोधन न्याय योजना के अंतर्गत गौठानवार गोबर खरीदी की समीक्षा की। उन्होंने गोबर खरीदी बढ़ाने के निर्देश सीईओ जनपद को दिए। साथ ही अगले 10 दिनों में अभियान चलाकर जिले के सभी पशुपालकों का योजना में अनिवार्यत: पंजीयन करने हेतु निर्देशित किया। गोधन न्याय योजना में एप के माध्यम से खरीदी की जानी है, इसमें कोई समस्या आये तो तत्काल उच्च अधिकारियों को सूचित करने के निर्देश दिए।
उन्होंने गौठानों में निर्मित वर्मी पिट निर्माण की जानकारी ली। नये स्वीकृत पिट और अधूरे पिटों का निर्माण जल्द पूरा करने के लिए कहा। खाद निर्माण हेतु गौठानों में पर्याप्त मात्रा में केंचुए उपलब्ध कराने के निर्देश कृषि विभाग को दिए। गौठानों के चारागाह में प्लांटेशन भी पूर्ण करने के लिए निर्देशित किया। इसके साथ ही नरवा और बाड़ी योजना के क्रियान्वयन की जानकारी ली। उन्होंने सामुदायिक बाड़ी के लिए बीज उपलब्ध कराने के निर्देश उद्यानिकी विभाग को दिए। साथ ही केचप निर्माण में प्रयुक्त होने वाले ज्यादा पल्प वाले टमाटर की किस्मों के उत्पादन को जिले में बढ़ावा देने के भी कहा।


कलेक्टर  सिंह ने सभी अधिकारियों को निर्देश दिए कि मुख्यमंत्री जनचौपाल, लोकसेवा गारंटी अधिनियम के प्रकरणों का समय से निराकरण किया जाए। उन्होंने सभी जनपद सीईओ और सीएमओ को अपने मुख्यालयों में युथ सेंटर के निर्माण हेतु जारी गाइडलाइन्स के अनुसार भवन का चिन्हांकन कर शीघ्र प्रस्ताव भेजने के लिए कहा। सहायक आयुक्त आदिवासी विकास विभाग से जिले में निर्माणाधीन 2 मॉडल आश्रम की प्रगति की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि यह आश्रम अधोसरंचना में ही नही बल्कि यहां मिलने वाली सुविधाओं व संचालन में भी उत्कृष्ट होना चाहिए इसके लिए नवाचारी कार्ययोजना बनाकर प्रस्तुत करने के निर्देश भी विभागीय अधिकारी को दिए।
कलेक्टर  सिंह ने गिरदावरी की जांच, दिए गए लक्ष्य और समय के अनुसार पूर्ण कर प्रतिवेदन देने के निर्देश सभी जांच अधिकारियों को दिए। उन्होंने यह भी कहा कि यदि कहीं गड़बड़ी या लापरवाही मिलती है तो उसका उल्लेख टीप के रूप में अपने प्रतिवेदन में जरूर करें। जिससे संबंधित के विरुद्ध कार्यवाही की जा सके। उन्होंने जल जीवन मिशन के क्रियान्वयन की अद्यतन स्थिति की समीक्षा भी की। योजना के तेज क्रियान्वयन हेतु क्रेडा को अपने कार्यगति बढ़ाने के निर्देश भी दिए।
कलेक्टर  सिंह ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों से कहा कि कोरोना जांच की रिपोर्ट संबंधित व्यक्ति को समय से मिले यह सुनिश्चित हो। इसमें किसी प्रकार की देरी या चूक न हो, इसके लिए जरूरी है कि पूरी सजगता से काम किया जाए। कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के मद्देनजर उन्होंने शहरी के साथ विशेष रूप से ग्रामीण क्षेत्रों में माइकिंग के द्वारा कोरोना से बचाव हेतु जारी दिशा-निर्देशों का व्यापक प्रचार प्रसार करने के निर्देश दिए। बैठक में मौजूद सभी अधिकारियों को भी अपने कार्यालयों में इन निर्देशों का अनिवार्य पालन करने के लिए कहा।
कलेक्टर  सिंह ने मनरेगा के तहत स्वीकृत कामों और बने जॉब कार्ड की भी जानकारी ली। अंग्रेजी माध्यम स्कूल में लैब और लाइब्रेरी का निर्माण जल्द पूरा करने के लिए कहा। नटवर स्कूल परिसर में ड्रेनेज की समस्या के शीघ्र निराकरण के निर्देश नगर निगम आयुक्त को दिए। बैठक में सीईओ जिला पंचायत सुश्री ऋचा प्रकाश चौधरी, डीएफओ धरमजयगढ़ श्री एस.मणिवासन, डीएफओ रायगढ़ श्री मनोज पाण्डेय, अपर कलेक्टर  आर.ए.कुरूवंशी, नगर निगम आयुक्त श्री आशुतोष पाण्डेय अपने कार्यालयों से वीडियो कान्फ्रेसिंग से जुड़े।

rj ramjhajhar

rj ramjhajhar

Related post