त्योहारों में खुशियां बांटे, संक्रमण नही.. कोविड अनुरूप व्यवहार का पालन करें.. यूरोप में आई कोरोना की दूसरी लहर से सबक लें..

 त्योहारों में खुशियां बांटे, संक्रमण नही.. कोविड अनुरूप व्यवहार का पालन करें.. यूरोप में आई कोरोना की दूसरी लहर से सबक लें..

रायपुर  24 अक्टूबर 2020// कोरोना महामारी ने पूरे विश्व के परिदृश्य को एक पटल पर लाकर खड़ा कर दिया है। कोई भी देश अब आइसोलेशन में नही है, एक देश में होने वाली घटनाओं का असर दूसरे देशों पर भी पड़ रहा है। जैसे कोरोना वायरस चीन से होते हुए पूरे विश्व में फैल गया और यह अभी समाप्त नही हुआ है।

इसकी रफ्तार कुछ कम हुई है लेकिन यदि हम सतर्क नहीं रहे तो यह फिर से उसी रफ्तार से फैल सकता है। जैसा कि अभी यूरोप में हो रहा है।
          यूरोप में कोविड 19 का दूसरा संक्रमण फैल रहा है। वहां अब 10 दिनों में ही केस दुगुने हो रहे हैं। जर्मनी में 24 घंटे में 10 हजार केस सामने आए।  विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी चेतावनी दी है कि अभी भी अत्यधिक सावधानी बरतने की जरूरत है। यूरोप में कई देशों जैसे इटली, आयरलैंड,ग्रीस, बेल्जियम, पोलैड, जर्मनी में फिर से लाकडाउन लगाया जा रहा है या प्रतिबंध बढ़ाए जा रहे हैं।
    इन सबसे हमें सबक लेना चाहिए क्योंकि केस कम होने की जानकारी मिलते ही लोग अब कोविड अनुरूप व्यवहार का पालन नही कर रहे। मास्क नही लगा रहें, दो गज की दूरी नही अपना रहें। त्योहारों में खरीददारी के समय भीड़ हो रही है। दुकान वाले भी मास्क नही लगा रहें। इस लापरवाही के कारण केस बढ़ने के साथ ही, हो सकता है दोबारा यूरोप की तरह लाकडाउन करना पड़े।
   इसलिए अभी समझदारी से ही कोविड प्रोटोकाल का पालन करना होगा। विशेषज्ञ भी बार-बार ठंड और प्रदूषण में बीमारी बढ़ने की आशंका जता ही रहे हैं। केरल राज्य का उदाहरण भी सबके सामने हैं जहां ओणम त्योहार के बाद संक्रमण तेजी से फैला। इसलिए इस दशहरा ,दीवाली ,ईद ,छठ पर्व सतर्क रह कर मनाएं,खुशियां बांटे, संक्रमण नहीं ।

rj ramjhajhar

rj ramjhajhar

Related post