जिले में कोविड से हुई मृत्यु का अंकेक्षण,अब तक 48 की मृत्यु जिसमें 88 प्रतिशत मरीज गंभीर बीमारियों से ग्रसित

 जिले में कोविड से हुई मृत्यु का अंकेक्षण,अब तक 48 की मृत्यु जिसमें 88 प्रतिशत मरीज गंभीर बीमारियों से ग्रसित

मनहरण बंजारे बलौदाबाजार – जिले अब तक कोरोना संक्रमण से कुल 48 मृत्यु दर्ज किए गये है। जिसके अंकेक्षण के लिए डाॅ.खेमराज सोनवानी की अध्यक्षता में अंकेक्षण समिति की बैठक रखी गई।
कुल 48 कोविड मृत्यु में से सबसे अधिक मृत्यु का आंकड़ा बिलाईगढ़ तथा भाटापारा विकासखण्ड का है तथा न्यूनतम मृत्यु बलौदाबाजार तथा कसडोल विकासखण्ड से हुई है।
कुल मृत्यु में से 83 प्रतिशत पुरूषो की मृत्यु हुई है तथा 17 प्रतिशत महिलाएं कोविड से संक्रमित होकर मृतक हुई है। यदि इन आंकड़ों को उम्रवार देखा जाये तो 50 वर्ष से अधिक लोगों की मृत्यु सबसे ज्यादा हुई है जिसमें 51 से 60 वर्ष तक मृत लोगों का 33 प्रतिशत तथा 60 वर्श से उपर लोगों की 38 प्रतिशत है। गौरतलब है कि 21 से 30 वर्ष के भीतर मृत्यु का आंकड़ा 4 प्रतिशत है तथा 31 से 40 वर्ष के भीतर मृत्यु का आंकड़ा 8 प्रतिशत है।
डाॅ. खेमराज सोनवानी ने अंकेक्षण के दौरान यह बताया कि कुल मृत्यु में से 88 प्रतिशत लोगों को अन्य जटिलताएं जैसे- हाईपरटेंशन,डायबटिज, किडनी रोग इत्यादि थी तथा कुल 48 मृत्यु में से 90 प्रतिशत लोगों को कोविड के गंभीर लक्षण जैसे- सांस लेने में तकलीफ, आॅक्सीजन लेवल की कमी अन्य जटिलताएं थी।
अंकेक्षण के दौरान यह पाया गया कि जिला के भीतर एवं जिला के बाहर स्थित शासकीय चिकित्सालयों में मृत्यु का आंकड़ा 63 प्रतिशत है, निजी चिकित्सालयों में मृत्यु का आंकड़ा 23 प्रतिषत, आवागमन के दौरान मृत्यु का आंकड़ा 12 प्रतिशत तथा घर में हुए मृत्यु का आंकड़ा 2 प्रतिशत रहा।
अंकेक्षण के दौरान यह तथ्य सामने आया कि हाईपरटेंशन एवं डायबटिज से ग्रसित लोगों को कोरोना होने पर खतरा अधिक होता है। अतः मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. खेमराज सोनवानी ने समस्त खण्ड चिकित्सा अधिकारियों को निर्देषित किया कि 50 वर्ष से अधिक लोग जिन्हें हाईपरटेंशन एवं डायबटिज हो, उनकी कोविड-19 जांच प्राथमिकता से किया जावे।
उक्त बैठक में कोविड अस्पताल बलौदाबाजार भाटापारा जिले के प्रभारी संहित समस्त विकासखण्डों में क्रियाशील आईसोलेशन सेंटर के प्रभारी चिकित्सक उपस्थित थे। इसके साथ ही सीएचएमओ ने सभी डॉक्टरों को हाई रिस्क समुह के मरीज़ों को होम आइसोलेशन के बजाय कोविड केयर सेंटर में भर्ती होकर ईलाज कराने के लिये निर्देश दिये है। उक्त अंकेक्षण समिति की बैठक में जिला नोडल अधिकारी डाॅ. राकेश कुमार, जिला कार्यक्रम प्रबंधक श्रीमती सृश्टि शर्मा एवं जिला एपीडिमियोलाॅजिस्ट श्रीमती श्वेता शर्मा उपस्थित थे।

Manharan Banjare

Manharan Banjare

Reporter

Related post