गोधन न्याय योजना संचालन के लिये बनाया गया एप विक्रेता भी देख सकेंगे बेचे गये गोबर की मात्रा व उसके भुगतान की जानकारी

 गोधन न्याय योजना संचालन के लिये बनाया गया एप विक्रेता भी देख सकेंगे बेचे गये गोबर की मात्रा व उसके भुगतान की जानकारी

रायगढ़, 2 सितम्बर 2020/ गोधन न्याय योजना के संचालन को और अधिक सुविधाजनक बनाने के लिये चिप्स के द्वारा एक विशेष एप विकसित किया गया है। जिसके माध्यम से योजना से जुड़े सभी लोग गतिविधियों का अवलोकन कर सकेंगे। वर्तमान में इसका संचालन एक सॉफ्टवेयर के माध्यम से किया जा  रहा है जिसे और अधिक यूजर फ्रैडली बनाने के लिये यह एप बनाया गया है। इसके संचालन हेतु प्रत्येक गौठान में एक नोडल अधिकारी नियुक्त किया जायेगा।
इस एप में यह व्यवस्था है कि गोबर विक्रेताओं का पंजीयन डेटा संधारित रहेगा तथा खरीदी उपरांत सिर्फ उसकी मात्रा की एन्ट्री करनी होगी। दिनांक 6 सितंबर से गोबर की खरीदी चिप्स की एप के माध्यम से ही की जायेगी। जिन विक्रेताओं का पंजीयन नही हुआ है उनका पंजीयन भी तत्काल गोठान में ही किया जा सकेगा और उसके बाद खरीदी की जा सकेगी।
इस एप में गोबर स्व-सहायता समूहों को देने, उनसे खाद प्राप्त करने और खाद का विक्रय करने के माड्यूल भी जोड़े जा रहे हैं जिससे पूरी योजना का ठीक प्रकार से क्रियान्वयन हो सके और उसकी मानिटरिंग की जा सके। चिप्स द्वारा एक हितग्राही एप भी बनाया है जिसे डाउनलोड करके गोबर विक्रेता उनके द्वारा बेचे गए गोबर और उन्हें प्राप्त बैंक भुगतान की जानकारी वे देख सकेंगे। एप के संचालन हेतु प्रत्येक स्तर पर प्रशिक्षण दिया जायेगा।

RJ रमझाझर

RJ रमझाझर

Editor In Chief

Related post