किसानों व गरीबों को थमाए जा रहे 3 हजार से लेकर 2 लाख तक के बिजली बिल,विभागीय लापरवाही देख बिफरे सभापति ,कहा- समय पर उचित कार्यवाही नहीं करने पर उग्र आंदोलन हेतु होंगे बाध्य..

 किसानों व गरीबों को थमाए जा रहे 3 हजार से लेकर 2 लाख तक के बिजली बिल,विभागीय लापरवाही देख बिफरे सभापति ,कहा- समय पर उचित कार्यवाही नहीं करने पर उग्र आंदोलन हेतु होंगे बाध्य..

 

रंजीत बंजारे- बेमेतरा// पूरा मामला बेमेतरा जिले का है, जहाँ बाढ़ के बाद तेज धूप से लगातार किसानों के खेतों में पानी की आवश्यकता बनी हुई है, और अटल ज्योति में जारी है लगातार बिजली की अघोषित कटौतियाँ..
वही बेमेतरा जिला में भारी भरकम बिजली बिल आने से आम नागरिक और किसान परेशान है। संकट के इस दौर में लोगो का गुजारा मुश्किल से चल रहा है। उसमें से भारी भरकम बिजली बिल नागरिकों का जीना दूभर कर दिया है। बेमेतरा जिला में भारी बिजली बिल आने की शिकायत लगातार मिल रही है फिर भी अभी तक उचित सुधार नहीं किया गया है।

अंकुर समाज सेवी संस्था के प्रदेश संयोजक एवं जिला पंचायत बेमेतरा सभापति राहुल योगराज टिकरिहा ने बेमेतरा डीई मुरारी श्रीहरि और साजा डीई डी.के. सैनी को ज्ञापन देकर भारी भरकम बिजली बिल में सुधार और अटल ज्योति कनेक्शन में हो रही कटौती को बंद करने को कहा है। सभापति टिकरिहा को ग्रामीणों द्वारा शिकायत मिल रही है। और टिकरिहा लगातार इस समस्या के समाधान करने में लगे हुए है। विगत दिनों टिकरिहा द्वारा ग्रामीणों के बिजली बिल को सुधार के लिए बिजली विभाग के अधिकारियों को वापस भी करा दिया था शिकायत का निराकरण नहीं होने से सभापति टिकरिहा तेज लहजे में बिजली विभाग को उग्र आंदोलन की चेतावनी भी दी है। सभापति ने कहा है कि 10 दिनों के अंतर्गत भारी भरकम बिल सुधार की दिशा पर उचित कार्यवाही नहीं होने पर उग्र आंदोलन हेतु बाध्य होंगे। जिसकी सम्पूर्ण जिम्मेदारी विद्युत विभाग की होगी।

बिजली विभाग के प्रभारी को जो ज्ञापन सौंपा गया जिसमें सभापति टिकरिहा ने लिखा है कि विषयान्तर्गत लेख है कि जिले में विगत दिनों भारी बारिश हुई थी। बारिश के बाद से लगातार तेज धूप हो रहा है धूप तेज होने के कारण खेतों में पानी की मांग व आवश्यकता नितांत बढ़ते जा रही है। लेकिन बेमेतरा व साजा डिवीजन में अटल ज्योति कनेक्शन में लगातार कटौती हो रही है। 24 घंटो में महज कुछ घण्टे ही बिजली दी जा रही है जिससे खेतों को पर्याप्त मात्रा में पानी नहीं मिल पा रहा है। ऐसी स्थिति में किसान भाई-बहनें चिंतित है।

अघोषित बिजली कटौती के बावजूद ग्रामीण और नागरिकों को भारी भरकम बिजली बिल थमाया जा रहा है जिससे सभी परेशान है। बेमेतरा जिला में गरीब व किसानों को बिजली बिल 3 हजार से लेकर 2 लाख रुपये तक भेजा जा रहा है भारी भरकम बिजली की समस्या में सुधार करने लगातार बिजली विभाग से निवेदन किया जा रहा है फिर भी विभाग द्वारा कोई उचित कार्यवाही नहीं कि जा रही है10 दिन के भीतर उचित कार्रवाई नहीं होने पर अंकुर समाज सेवी संस्था के नेतृत्व में किसान और नागरिकों द्वारा उग्र आंदोलन किया जाएगा। इस आंदोलन के लिए संपूर्ण जिम्मेदार बिजली विभाग होगी।
इसलिए, इस विषय को गंभीरता से लेते हुए इसके निराकरण के लिए तत्काल प्रभावी कदम उठाए जाए।

भारी बिजली बिल से परेशान प्रमुख गॉवों के नाम..
बेरला नगर पंचायत के अधिकांश वार्ड, समृद्धि विहार (बेमेतरा), तिवरैय्या, किरितपुर, कठिया, पेंड्री, कुरुद, रांका, झलमला, रवेली, टेमरी, खम्हरिया, भींभौरी, पिरदा, बहेरा(बेरला), कुसमी, सुरहोली, रामपुर, बैजी, लोलेसरा, केंवाची, बहेरा(बेमेतरा), जेवरा, मटका, जौँग, बसनी, करहि, बहिंगा, अर्जुनी, डोकला, ताला, पथर्रा, फरी, जीया, चोरभट्ठी, बिजाभाठ, अमोरा, बहिंगा व नवागांव, डंगनिया, बहेरघट, संडी, अमोरा, जेवरी।

rj ramjhajhar

rj ramjhajhar

Related post