किसानों को उन्नत और प्रमाणित बीज ही उपलब्ध हो – कलेक्टर एल्मा कलेक्टर ने की उद्यान, मस्त्य और रेशम विभाग की योजनाओं की प्रगति की समीक्षा

 किसानों को उन्नत और प्रमाणित बीज ही उपलब्ध हो – कलेक्टर एल्मा  कलेक्टर ने की उद्यान, मस्त्य और रेशम विभाग की योजनाओं की प्रगति की समीक्षा

मुंगेली //  कलेक्टर  पी.एस एल्मा ने आज जिला कलेक्टोरेट स्थित मनियारी सभा कक्ष में उद्यान, मस्त्य और रेशम विभाग के अधिकारियों की संयुक्त बैठक लेकर उनके विभाग में संचालित योजनाओं की प्रगति की विस्तार पूर्वक समीक्षा की। बैठक में कलेक्टर एल्मा ने उद्यान विभाग की समीक्षा करते हुए कहा कि जिले में उद्यानिकी फसलो की अपार संभावनाएं है। उद्यानिकी फसल से किसानों की आय में वृद्धि की जा सकती है। इस हेतु उन्होने किसानों को उन्नत और प्रमाणित बीज उपलब्ध कराने के निर्देश दिये। बैठक में उन्होने कहा कि बेर की मांग दिनों-दिन बढती जा रही है। इस हेतु उन्होने देशी बेर के पेड में ग्राफ्टिंग कर उन्नत प्रजाति के बेर उत्पादित करने के निर्देश दिये। ताकि देशी बेर की तुलना में ग्राफ्टिंग के माध्यम से उत्पादित बेर की विक्रय कर किसान अधिक लाभ प्राप्त कर सके। बैठक में उन्होने लद्यु एवं सीमांत किसानों को आदान समाग्री के अंतर्गत दी जा रही मिनीकीट दवाई, खाद बीज के संबंध में जानकारी प्राप्त की और लद्यु एवं सीमांत किसानों को ही आदान समाग्री प्रदान करने के निर्देेश दिये। बैठक में उन्होने जिले में स्थापित नर्सरी के रख-रखाव, नर्सरी के माध्यम से तैयार किये जा रहे पौधे के संबंध में भी जानकारी प्राप्त की। इसी तरह उन्होने राज्य शासन के महत्वकांक्षी योजना नरवा,गरूवा,घुरूवा,बारी योजना के अंतर्गत बारी विकास के कार्यो की प्रगति की जानकारी प्राप्त की। उन्होने कहा कि किसानों के घर के आस-पास की जगह में साग-सब्जी एवं फल उत्पादन हेतु बारी का निर्माण किया गया है। उन्होने बारी विकास हेतु योजनाबद्ध रूप से कार्य करने के निर्देश दिये।

बैठक में उन्होने उद्यानिकी फसलों के सुरक्षा के लिए की गई सामुदायिक फेसिंग और लाभान्वित किसानों के बारे में भी जानकारी प्राप्त की और संबंधितों को आवश्यक निर्देश दिये। बैठक में उन्होने सिंचाई हेतु पावर स्पे्रयर पंप तथा पावर डीलर के तहत प्राप्त लक्ष्य और वितरण एवं किसानों को दी गई अनुदान राशि के संबंध में जानकारी प्राप्त की। इसी तरह उन्होने पैक हाउस और ग्रीन हाउस के संबंध में भी जानकारी प्राप्त की और ग्रीन हाउस तथा पैक हाउस नष्ट होने पर  ग्रीन हाउस तथा पैक हाउस स्थापित करने हेतु किसानों को प्रोत्साहित करने के निर्देश दिये। बैठक में उन्होने माली प्रशिक्षण के संबंध में भी जानकारी प्राप्त की और संबंधितों को आवश्यक निर्देश दिये। इसी तरह उन्होने गोठानों में निर्मित बाडी के साथ-साथ प्रधान मंत्री फसल बीमा योजना, प्रधान मंत्री कृषि सिंचाई योजना तथा किसान के्रडिट कार्ड के संबंध में भी जानकारी प्राप्त की और संबंधितों को आवश्यक निर्देश दिये। इसी क्रम में कलेक्टर  एल्मा ने मस्त्य विभाग की योजनाओं की समीक्षा करते हुए मस्त्य उत्पादन हेतु पट्टे में दी गई तालाबों की संख्या, मस्त्य बीज वितरण, तालाबों में मस्त्य उत्पादन, मछुआ सहकारी समिति को उपलब्ध करायी गयी समाग्री, मछुआ दुर्घटना बीमा के संबंध में जानकारी प्राप्त की और संबंधितों को आवश्यक निर्देश दिये। इसी तरह उन्होने रेशम विभाग की समीक्षा करते हुए कोसा उत्पादन, कोसा संग्रहण तथा विक्रय के साथ-साथ कोसा उत्पादन में संलग्न स्व सहायता समूह के कामगारों के लाभों के बारे में जानकारी प्राप्त की और कामगारों के लाभो में वृद्धि करने हेतु आवश्यक निर्देश दिये। इस अवसर पर उद्यान विभाग के सहायक संचालक रामवीर तोमर, रेशम विभाग के सहायक संचालक टी.आर उइके और मस्त्य विभाग के अधिकारी के साथ-साथ सभी उद्यान विस्तार अधिकारी मौजूद थे।

rj ramjhajhar

rj ramjhajhar

Related post