कलेक्टर ने विभिन्न गौठानो का आकस्मिक निरीक्षण कर, गतिविधियों का लिया जायजा रोजगार के नये अवसरों के साथ आत्म निर्भरता केंद्र के रूप में विकसित हो रहे है गौठान

 कलेक्टर ने विभिन्न गौठानो का आकस्मिक निरीक्षण कर, गतिविधियों का लिया जायजा रोजगार के नये अवसरों के साथ आत्म निर्भरता केंद्र के रूप में विकसित हो रहे है गौठान

मनहरण बंजारे – बलौदाबाजार,16 सितंबर 2020/राज्य सरकार की महत्वाकांक्षी योजना सुराजी ग्राम के तहत बने गौठान के अब बेहद सुखद परिणाम आने लगे है। जिले के विभिन्न गोठान रोजगार के नये अवसरों के साथ आत्म निर्भरता केंद्र के रूप में लगातार विकसित हो रहे है। आज जिला कलेक्टर सुनील कुमार जैन ने भाटापारा तहसील के अंतर्गत गिर्रा,कडार,कोटमी,गोढ़ी एस एवं नवागाँव के गौठानो सहित ग्राम अमलीडीह में बन रहे पंचायत भवन का निरीक्षण किया गया। ग्राम गिर्रा के गौठान में उन्होंने गोधन न्याय योजना के तहत गोबर खरीदी का जायजा लिया। साथ ही गोबर खरीदने में लगे महिला स्व सहायता समूहों से बात कर उनको होने वाली समस्याओं के बारे में हाल चाल जाना। इसके साथ ही वर्मी कंपोस्ट टैंक निर्माण स्थिति देखा। गौठान समिति के अध्यक्ष पुनीत राम जायसवाल ने बताया की गाँवो में लगभग 6 सौ गाय है।यहां लगभग 78 गोपालकों ने अपना पंजीयन कराया है। जिसमें लगभग 1 लाख 20 हज़ार रुपये से अधिक की गोबर खरीदी कर भुगतान किया जा चुका है।

ग्राम पंचायत कडार के गौठान की व्यवस्थित व्यवस्था को देखकर कलेक्टर श्री जैन ने इसे आदर्श गौठान में बदलने के निर्देश सम्बंधित विभाग को दिये है। उन्होंने जिला पंचायत सीईओ से कहा कि यह गौठान और कैसे अच्छा बन सकता है। इसका एक विस्तृत प्रोजेक्ट बना कर दिखाये। इस दौरान कडार गौठान समिति अध्यक्ष रुपु बंजारे ने बताया की गौठान में एक तालाब भी है। जहां पर मछली पालन काम जल्द ही महिला स्व सहायता समूहों के द्वारा किया जायेगा। इसके साथ ही आदर्श गौठान गोढ़ी एस में महिला स्व सहायता समूहों द्वारा मशरूम उत्पादन, साग सब्जी उत्पादन, मुर्गी पालन एवं वर्मी कंपोस्ट का निर्माण बहुत ही अच्छे तरीके से चल रहे है। जो सरकार के उद्देश्य को पूरा करते हुये एक नये रोजगार केंद्र के रूप में उभर रहे है। इनसे महिला आत्मनिर्भर बन रही है। गोढ़ी एस में अभी 2 महिला स्व सहायता समूह कार्य कर रही है। जिसमें जय श्री कृष्णा महिला स्व सहायता समूह,एवं कंचन महिला स्व सहायता समूह। महिला स्व सहायता समूह की रजनी बाई निषाद ने बताया की 3 किलो मशरूम का उत्पादन हो रहा है। जिसे 300 रुपये किलो में मार्केट में बेचा जा रहा है। उसी तरह वर्मी कंपोस्ट का 17 क्विटल का उत्पादन किया जा चुका है। जिसमें से 7 क्विंटल उद्यानकी विभाग एवं 6 क्विंटल सामान्य किसानों को बेचा जा चुका है। इसके साथ ही 4 क्विंटल स्टाक में खाद उपलब्ध है। इन्हें 10 रुपये प्रति किलो बीके हिसाब से बेचा जा रहा है। इन समुहों से जुड़े हुये 22 महिलाओं को अतिरिक्त आय का साधान बन रहा है।इसके साथ ही कड़कनाथ का भी पालन किया जा रहा है।
*कलेक्टर ग्राम कोटमी में मनरेगा से हुये वृक्षारोपण एवं स्कूल परिसर में बने गार्डन से हुए बेहद प्रभावित*
कलेक्टर श्री जैन ने ग्राम कोटमी के सरपंच डब्यू सिंह के कार्यो से बेहद प्रभावित हुये। 3 साल पूर्व मनरेगा से करीब 3 एकड़ में 1500 आम पेड़ो का वृक्षारोपण किया गया है। जो आज भी पूरी तरीके से जीवित है। और अगले साल उसमें फल आने की उम्मीद है। पेडों को देखकर कलेक्टर ने अगले साल आकर आम खाने की इच्छा जतायी। उसके साथ ही सीईओ को इसमें बाड़ी का विकास कर महिला स्व सहायता के लिये कैसा उपयोगी हो सकता है। इस बारे में विस्तृत योजना बनाने के दिशा निर्देश दिये गये। इस दौरान गांव के सरपंच ,सचिव एवं अन्य जनप्रतिनिधि भी उपस्थितथे।

*जनपद सीईओ के प्रति जतायी नाराजगी*
निरीक्षण के दौरान कलेक्टर श्री जैन ने जनपद पंचायत सीईओ सी पी रात्रे के कार्यों के प्रति नाराजगी जाहिर किये। उन्होंने कुछ महत्वपूर्ण कार्यो को सुधारते हुये शीघ्र ही व्यवस्थाओ को सुधारने का निर्देश दिये गये है।
इस अवसर पर अपर कलेक्टर राजेन्द्र गुप्ता, जिला पंचायत सीईओ डॉ फ़रिहा आलम सिद्की, (भाटापारा एसडीएम महेश राजपूत,अतिरिक्त जिला पंचायत सीईओ हरिशंकर चौहान, एपीओ स्वच्छ भारत अभियान मुरली यदु,जनपद पंचायत सीईओ सी पी रात्रे समेत कृषि,पंचायत, पशुपालन विभाग के अधिकारी एवं कर्मचारी गण उपस्थित थे।

Manharan Banjare

Manharan Banjare

Reporter

Related post